Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

देश से बाहर जाने से पहले कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेना अनिवार्य, सऊदी ने बनाए नए नियम

Spread the love

दुनिया के कई देश एक बार फिर कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप से घिरते नजर आ रहे हैं। इसके मद्देनजर सऊदी अरब ने देश से बाहर जाने वालों के लिए कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लेना अनिवार्य कर दिया है। दरअसल वायरस के बदलतेे रूपों के साथ संक्रमण के हालात भी बदल रहे हैं और ऐसी खबर आ रही है कि वैक्सीन की एक खुराक कई वैरिएंट्स से बचाव के लिए पर्याप्त नहीं है। इसलिए सऊदी से बाहर जाने वालों के लिए वैक्सीन की दोनों खुराकों को अनिवार्य कर दिया गया है। ये नए नियम 9 अगस्त से प्रभावी होंगे।

यह फैसला देश के केंद्रीय मंत्रालय की ओर से कई देशों में कोरोना महामारी की नई लहर और नए म्यूटेशन के अलावा वैक्सीन की एक खुराक के प्रभाव को कम देखते हुए  लिया गया है। 

ब्रिटेन में कोरोना महामारी के बीच सोमवार से बड़े बदलाव होने वाले हैं। इन बदलावों के तहत अधिकतर कोविड-19 प्रतिबंधों को हटा लिया जाएगा। सरकार की तरफ से पले ही इसकी जानकारी दी जा चुकी है। सरकार ने कहा है कि वो अब लॉकडाउन से बाहर आ रही है और अंतिम चरण के दौर में लोगों को कई प्रतिबंधों से छुटकारा मिल जाएगा। नए बदलावों के तहत ब्रिटेन अब विदेशों से आने वाले यात्रियों को कई तरह की छूट देने की घोषणा कर चुका है। हालांकि फ्रांस के लिए ब्रिटेन ने नरमी नहीं दिखाई है।

ब्रिटेन ने कहा है कि फ्रांस से आने वालों को अनिवार्य रूप से दस दिन क्‍वारंटीन होना होगा। इसके लिए वो अपने घर को या फिर दूसरे स्‍थान को चुन सकते हैं। ये नियम फ्रांस से आने वाले उन विदेशियों पर भी लागू होगा जिन्‍होंने कोरोना वैक्‍सीन की दोनों खुराक ले रखी हैं। ब्रिटेन के मुताबिक ये फैसला फ्रांस में बढ़ते डेल्‍टा और बीटा वैरिएंट के मामलों की वजह से लिया गया है। बीटा वैरिएंटन पहली बार दक्षिण अफ्रीका में सामने आया था। हालांकि अन्‍य देशों से आने वाले विदेशी यात्रियों से ये प्रतिबंध भी सोमवार से हट जाएगा। ब्रिटेन ने साफ कर दिया है कि वो अपने यहां पर कोरोना के खतरे को कम करने के मद्देनजर इस तरह के फैसले ले रहा है।

  •  
  •  

Leave a Comment