Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

इस बार बना सकते हैं प्रयागराज की इन जगहों पर घूमने का प्लान, मंत्रमुग्ध हो जाएंगे आप

Spread the love

कभी हिल स्टेशन, कभी किसी रोमांटिक जगह, तो कभी राजस्थान जैसी जगहों पर लोग घूमने जाते हैं। लेकिन कई लोग धार्मिक स्थलों पर भी घूमने का प्लान बनाते हैं और इन्हीं में से एक जगह है प्रयागराज। गंगा, यमुना और सरस्वती नदी के संगम की वजह से ये जगह काफी खूबसूरत नजर आती है। यही नहीं, यहां कई ऐसी जगह भी हैं जहां आप जा सकते हैं और यकीन मानिए आपको यहां जाकर अलग एहसास मिलेगा। तो चलिए जानते हैं इन जगहों के बारे में।

त्रिवेणी संगम

प्रयागराज भारत की उन जगहों में शामिल है, जहां गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम होता है। मान्याताओं के अनुसार कहा जाता है कि जो व्यकित इस त्रिवेणी संगम में स्नाना करता है उसके सभी दुख दूर होते हैं और सभी पाप धुल जाते हैं। हर शाम को यहां आरती होती है, जिसमें आप शामिल हो सकते हैं। इस आरती में शामिल होने का अपना अलग मजा है। तमाम चिंताओं से दूर आप इस आरती में खो जाते हैं

न्यू यमुना ब्रिज

ये न्यू यमुना ब्रिज काफी खूबसूरत है। ये पुल यमुना नदी के ऊपर बना हुआ है। केबल द्वारा इस पुल के डेक को सहारा दिया गया है, जो देखने में बेहद ही प्यारा नजर आता है। यहां लोग काफी फोटोग्राफी भी करते हैं। अगर आप भी अच्छी तस्वीरें क्लिक करवाना चाहते हैं, तो ये जगह आपके लिए काफी सही है। इस पुल पर खड़े होकर आप यमुना नदीं के बहते प्रभाव को भी देख सकते हैं।

ऑल सेंट्स कैथेड्रल

लगभग 19वीं शताब्दी में ऑल सेंट्स कैथेड्रल चर्च का निर्माण किया गया था। कहा जाता है कि इस चर्च में गोथिक शैली की वास्तुकला देखने को मिलती है। इस चर्च में जाकर आप अलग एहसास फील कर सकते हैं। ईसाई धर्म के लोगों के लिए ये जगह तीर्थ स्थल है। हर साल यहां काफी संख्या में सैलानी पहुंचते हैं और यहां की कलाकारी देखकर हैरान रह जाते हैं।

प्रयागराज का किला

भारत में कई किलों के दीदार आपने किए होंगे, लेकिन आप प्रयागराज के किले में भी जा सकते हैं। ये किला गंगा और यमुना नदीं के किनारे स्थित है। अकबर के शासनकाल के दौरान लगभग 1583 के आसपास इसे बनाया गया था। इस किले की वास्तुकला और अद्भुत संरचना हर किसी को अपनी और आकर्षित करती है। हर साल यहां काफी संख्या में लोग घूमने पहुंचते हैं।

  •  
  •  

Leave a Comment